जेने देखीं ओनिए झोल: हरेश्वर राय

जेने देखीं
ओनिए झोल।

सहर गाँव के
नदी नाव के
तरजुई के
सेर पाव के

बिगड़ल बाटे
बोली बोल।

नेता लफाड़ी
पंच खेलाड़ी
मरदे मेहरारु
चतुर अनाड़ी

सभे पहिरले
बड़ुए खोल।

हरेश्वर राय, सतना 

टिप्पणियाँ

लोकप्रिय पोस्ट

मुखिया जी: उमेश कुमार राय

जा ए भकचोन्हर: डॉ. जयकान्त सिंह 'जय'