होली: उमेश कुमार राय



अवध बीचे,
होली खेलत रघुवीर।

सखिया सब अबीर लेई खोजत,
रामाई लुकाये सरजू तीर।
अवध बीचे,
होली खेलत रघुवीर।

हनुमान पिचकारी रंग डारे,
भरत भुआल डाले अबीर।
अवध बीचे,
होली खेलत रघुवीर।

कोशिला केकई मुशुकी छांटत ,
राजा दशरथ बड़न धीर गंभीर।
अवध बीचे,
होली खेलत रघुवीर।

लखन लाल बचाव में लागल ,
सुमित्रा के डेरावत राम के फिकीर।
अवध बीचे,
होली खेलत रघुवीर ।

उमेश कुमार राय
ग्राम+पोस्ट- जमुआँव
थाना- पिरो
जिला- भोजपुर, आरा (बिहार)

टिप्पणियाँ

लोकप्रिय पोस्ट

मुखिया जी: उमेश कुमार राय

मोरी मईया जी

जा ए भकचोन्हर: डॉ. जयकान्त सिंह 'जय'

भोजपुरी कहानी का आधुनिक काल (1990 के बाद से शुरु ...): एक अंश की झाँकी - विष्णुदेव तिवारी

डॉ. बलभद्र: साहित्य के प्रवीन अध्येता - विष्णुदेव तिवारी